10 Jan 2016

सब आप पर निर्भर है

हालांकि कम से कम कुछ लोग तो हमेशा ही होते हैं, जो मशाल जलाये रखते हैं. इतना ही काफी सबकुछ है.
हो सकता है, आप ही वो हों. सब आप पर निर्भर है.
At least there can be few who will keep the light burning. That is all. But that is up to you, Sirs.
~K 1.2.1968
Share/Bookmark