29 Oct 2009

तनावमुक्त कैसे रहें ?

हम तनाव में क्यों आते हैं? क्या तनाव तभी नहीं होता, जब प्रतिरोध होता है? हमारे आसपास ही कई आवाजें शोर के रूप में रहती हैं - कुत्ते का भौंकना, बसों की आवाजाही, बच्चों का रोना, या मैकेनिकों की दुकानों की उठा पटक ठोकने पीटने की आवाजें। जब आप प्रतिरोध करते हैं, तनाव खड़ा हो जाता है। यथार्थतः यही होता है। यदि आप किसी तरह का प्रतिरोध ना बनायें शोर को वैसे ही होते रहने दें, शांतचित्त होकर सुनें, बिना किसी प्रतिरोध के.......ये ना कहें कि ये अच्छा है या बुरा है, या कि ऐसा होना चाहिए या नहीं होना चाहिए, बस केवल सुनें। जब तक कोई कोशिश या प्रतिरोध नहीं होगा, तनाव नहीं हो सकता। प्रतिरोधरहित संवदेनशक्ति सम्पन्न व्यक्ति कभी भी नर्वस टेन्शन और नर्वस बे्रकडाउन का शिकार नहीं हो सकता।
Share/Bookmark